SEO क्या है ? और ये हमरे पोस्ट को टॉप Search लिस्ट में कैसे लाता है

0
70
SEO क्या है

SEO क्या है: Optimization उन सभी Measures को रेफर करता है जिसे हम अपने वेबसाइट पेज के पोजीशन को Search Engine में हाई करने के लिए अपनाते है। SEO का मतलब होता है Search Engine Optimization मतलब के अपने ब्लॉग को बेटर सर्च इंजन रिजल्ट के लिए ऑप्टिमाइज़ करना। तो दोस्तों आईये जानते है के SEO क्या है ?

SEO क्या है

 

दोस्तों हम सभी को जब कभी इन्टरनेट पे कुछ भी ढूंढना हो तो हम लोग उसे ढूंढने के लिए सर्च इंजन का इस्तेमाल करते है, दुनया में लगभग 75% लोग Google सर्च इंजन का इस्तेमाल करते है। google के अलावा Yahoo, Bing, जैसे दुसरे बड़े सर्च इंजन भी मौजूद है जिसे Google के बाद हम अपनी खोज के लिए यूज़ किया करते हैं। SEO की मदद से हम अपने पोस्ट को सर्च इंजन में टॉप पोजीशन पे लाते है।

जब हमें Google पे कुछ भी सर्च करना होता है तो हम KEYWORD की मदद से उसे सर्च करते है तो उस KEYWORD से रिलेटेड जितने भी कंटेंट्स गूगल के पास होते है वो उसे शो कर देता है। ये कंटेंट जो हमें Google में दीखते है वो अपने अपने रैंकिंग के हिसाब से होते है, और जो सबसे ऊपर होता है वो रैंकिंग में no.1 होता है। ये सारे कंटेंट  हमारे कीवर्ड के आधार पे हमें गूगल में दीखते है वो अलग अलग साइट्स के होते है और हर साईट की यही   कोशिश होती है के उसका पोस्ट google में no.1 पोजीशन पे हो।

अपने पोस्ट को no.1 पोजीशन पे लाने के लिए हमें अपने पोस्ट में SEO का अच्छी तरह से इस्तेमाल करना होता है।जितने बेहतरीन तरीक़े से किसी भी ब्लॉग का SEO होता है वो ब्लॉग उतना ही ट्रैफिक अपने साईट पे लाता है जिसकी वजह से वो साईट पॉपुलर हो जाता है। हमें अपने ब्लोग्स पे SEO करना बहुत ज़रूरी है। ताकि हमारे साईट पे ज्यादा से ज्यादा ट्राफिक आ सके।

SEO ब्लॉग के लिए क्यों ज़रूरी है 

SEO क्या है

किसी भी ब्लॉगर का ब्लॉग लिखने का सबसे बड़ा मोटिवे जो होता है वो ये है के उसके लिखे हुए ब्लॉग ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहंचे। ब्लॉग का कंटेंट चाहे कितना भी अच्छा क्यों न हो अगर वो लोगों तक नहीं पहंचता तो उसके अच्छा होने का कोई भी फायदा नहीं है। इसलिए हमें अपने ब्लॉग को लोगों तक पहंचाने के लिए SEO करना ज़रूरी हो जाता है। 

अगर हम SEO नहीं करते है तो सर्च इंजन हमारे वेबसाइट को ढूंढ नहीं पायेगा और search लिस्ट में हमारे द्वारे लिखे पोस्ट को शो नहीं किया जायेगा क्यों की GOOGLE के डेटा बेस में हमारे साईट की कोई भी जानकारी स्टोर नहीं होगी

सर्च इंजन हमारे पोस्ट को कीवर्ड से ढूंढता है और अगर हम ने SEO नहीं किया हो तो बिना कीवर्ड के हमारा पोस्ट सर्च लिस्ट में नहीं आयेगा जिसकी वजह से हमारे पोस्ट पे ट्रैफिक होना बहुत मुश्किल हो जायेगा

SEO के टाइप्स 

SEO दो तरह का होता है 

  • ON पेज SEO
  • OFF पेज SEO

ON पेज SEO: अपने आर्टिकल को लिखते वक़्त हम अपने आर्टिकल में जो भी कंटेंट इम्प्लेमेंट करते है जैसे हैडिंग, टाइटल, मीडिया, डिजाईन वगैरह को सही ढंग से ऑप्टिमाइज़ करना ही ON पेज SEO कहलाता है। इस ऑप्टिमाइजेशन में हम किसी सिंगल ब्लॉग के कंटेंट को हम किसी पर्टिकुलर टारगेट कीवर्ड के लिए रैंक करने के लिए ऑप्टिमाइज़ करते है।

ON पेज SEO में कंटेंट की क्वालिटी, प्रॉपर कीवर्ड प्लेसमेंट और भी बहुत सारे फैक्टर्स होते है जिसपे ध्यान दिया जाता है। ON पेज SEO का मतलब किसी पोस्ट को स्मार्टली ऑप्टिमाइज़ करना होता है, ताकि सर्च इंजन के द्वारा किसी पर्टिकुलर कीवर्ड के लिए हमारा ब्लॉग PICK OUT हो सके और वेबसाइट पे ज्यादा से ज्यादा लोगों को भेज सके।

OFF पेज SEO

सर्च इंजन पे वेबसाइट की रैंकिंग को इम्प्रूव करने के लिए बहुत सारे मेथड यूज़ किये जाते है जिनमे से कुछ मेथड on साईट इम्प्लेमेंट होते है तो कुछ मेथड वेबसाइट के बहार। वो तमाम मेथड जिन्हें हम वेबसाइट के बाहर इम्प्लेमेंट किया जाता है और सर्च इंजन की रैंकिंग और ट्रैफिक को Increase किया जाता है उसे Off पेज सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कहते है। 

Off पेज ऑप्टिमाइजेशन में जितना हो सके उतना Backlinks क्रिएट किये जाते है जिस से लोगों का ज्यादा से ज्यादा उस साईट पे trust और ट्रैफिक क्रिएट हो सके। Off पेज ऑप्टिमाइजेशन में साईट की लिंक बिल्ड की जाती है, लेकिन लिंक बिल्डिंग के अलावा भी बाहुत से काम है जिसे ऑफ पेज ऑप्टिमाइजेशन में किया जाता है।

इस तरह से Off-page SEO एक्चुअल में आपके Website को ऑनलाइन एंड ऑफलाइन optimize करने का एक तरीका है जिसमे कंटेंट, ब्लॉगर रिलेशनशिप और सोशल रिलेशनशिप्स को यूज़ कर के सर्च इंजन के लिए लिंक बिल्ड की जाती है।

दोस्तों मुझे उम्मीद है के आप इस आर्टिकल के ज़र्ये SEO क्या है और इसकी बेसिक बातों को तो समझ ही गये होंगे, और शायद ये आपके लिए काफी Informative भी होगा।