जाने सेल्फ Reflection आपको कैसे एक खुश और कामयाब ज़िन्दगी देता है ?

0
1081

कई वर्ल्ड चैंपियन एथलीट, बिज़नेस मैन, और spiritual टीचर सभी कामयाबी के लिए एक इम्पोर्टेन्ट कुंजी के रूप में सेल्फ reflection का हवाला देते हैं| और ये आम आदमियों के लिए भी ज़रूरी है जो अपने लाइफ के साथ fulfilled और हैप्पी रहना  चाहते है

इस लिए हमें जानना चाहए के सेल्फ reflection क्यों इम्पोर्टेन्ट है| आज मै आपको बताने जा रहा हूं कि सेल्फ reflection आपके लिए क्यों मायने रखता है और आप इसे और ज़्यादा कामयाब  और कम्पलीट लाइफ जीने के लिए कैसे कर सकते हैं।तो आइये जानते है सेल्फ रेफ्लेक्टिओं से जुडी कुछ बातें|

सेल्फ reflection क्या होता है|

 सेल्फ reflection एक मिरर को देखने और जो आप देखते हैं उसको describe करने जैसा है। यह खुद का आकलन करने का तरीका है, के आप कैसे काम या पढ़ाई करते है| सिम्पली reflection का मतलब है किसी चीज़ के बारे में सोचना|

सेल्फ reflection क्यों important है?

Reflection का सिर्फ एक ही मोटिव होता है वो ये  है के हम हमारे स्किल का development कैसे करें और हम कितने इफेक्टिव है ये बताता है बजाय इसके की हम काम को वैसे ही करते रहे जैसा करते आ रहे थे| ये खुद से पॉजिटिव वे में question करने जैसा है| आप क्या कर रहे है और क्यों कर रहे है और फिर decide करना के क्या इसको फ्यूचर में करने का कोई दूसरा भी बेहतर तरीक़ा है|

ज़िन्दगी के किसी भी रोल में चाहे वो घर का हो या बाहर reflection  सिखने का एक इफेक्टिव तरीक़ा है| जब हम सीखते है तो हम उस रूटीन में फंस सकते है जो इफेक्टिव ढंग से काम नहीं करता है| खुद के skill के बारे में सोचना आपको उन changes को लाने में मदद करेगी जो आपको खुद में लाने की जरूरत है|

क्या होगा अगर हम Reflect ना करें 

अगर हम खुद में रिफ्लेक्ट करना छोर दे तो हमारी ज़िन्दगी हमारे लिए ही परेशानी बन जाएगी हम चलते रहते है, हम खुद को ठेलते है, हम ऐसे काम में होते है जो हमें हर वक़्त मारता रहता है,और ऐसे में हमारी ज़िन्दगी stressful, unhappy, frustrated, और tired हो जाती है|

हम ज़िन्दगी के ट्रेडमिल पे दौरते रहते है के हमारे पास waste करने के लिए टाइम नहीं है| इसलिए हम मूव करते रहते है आगे बढने के लिए और इसी वजह से सेल्फ reflection एक इम्पोर्टेन्ट वजह है हमें हमारी ज़िन्दगी अच्छे से गुजरने के लिए|ये ज़रूरी है जानना के हमें क्या करना चाहए और क्या नहीं|

खुद से पूछे जाने के लिए Reflective questions

Strengths – मेरा strength क्या है? ये जानना बहुत ज़रूरी है हमें अपने strength पता होना चाहए| आप किस चीज़ में बेहतर है ये ज़रूर जाने|

Weaknesses – मेरा weakness क्या है| example- क्या मुझे  किसी खास चीज़ के साथ और ज्यादा प्रैक्टिस की ज़रूरत  है|

Problems – ज़रूर जाने के ऐसे कौन सी प्रोबलेम्स है  जो आपको घर या कम पे एफेक्ट कर रहा है| और इसे दूर करने की कोशिश करे और इसे बिलकुल भी इगनोर न करें|

Achievements – अपने Achievements को ज़रूर पहचाने ये आपको मोटीवेट करेगी|

Happiness – जाने के ऐसे कोई चीज़ है जो आपको खुश या उदास कर देती है| अपने खुश होने का करण ज़रुर  जाने|

Solutions – मुझे ऐसा क्या करना चाहए जो किसी स्पेशल एरिया में मुझे इम्प्रूव करे ऐसा ज़रूर सोचे|

Importance ऑफ़ सेल्फ reflection

ये खुद को  गहराई तक जानने के लिए ज़रूरी है सेल्फ reflection के लिए टाइम निकालना खुद को अवेयर करना है जो के सेल्फ इम्प्रूवमेंट के रूप में सामने आता है| सेल्फ reflection आपको चीजों को एक डिफरेंट नज़र्ये से देखने का नज़र्या प्रोवाइड करता है| अगर आप किसी सिचुएशन को सोचने के लिए टाइम लेते है तो उस पे आप सोच समझ कर रियेक्ट करते है और अपने बिहेवियर को दोबारा वैसे सिचुएशन में होने पे बदल लेते है|

जब आप सोचते है तो आपको पहले से ज्यादा बेहतर understanding हो जाती है के क्या सही है और क्या ग़लत|और ये आपको बेहतर decision लेने और कॉन्फिडेंस को इमप्रोवे करने में मदद करती है| सेल्फ reflection आपको आपनी रास्तो में आने वाली beliefs और assumptions को चलेंगेस करने की ताक़त देता है|

सेल्फ reflection को अपनी आदत का हिस्सा बनाये 

अगर सेल्फ reflection आपके आदत का हिस्सा नहीं है तो इसे अभी अपनी आदत का  हिस्सा बनाये ये आपके लिए एक वेक उप कॉल है| आप जो भी स्टेप आगे लेंगे वो परफेक्ट होगा, इसके लिए कोई राईट या wrong way नही है जो भी आप के ऊपर work करे आप वो करें|

हलाकि सेल्फ रिफ्लेक्शन शुरू में काफी डिफिकल्ट और embarrassing लगेगा क्यों  की ये नैचुरली नहीं आता है| हम इसे प्रैक्टिस के साथ आसान बना सकते है और लास्ट में जो रिजल्ट आयेगा वो आपका एक खुश और efficient वजूद होगा| तो ये टाइम है आपके शुरू करने का और आप कैसे शुरू करने जा रहे हैं?